Subdomain Kya hai? सब डोमेन के फायदे – What is Subdomain in Hindi

Subdomain के बारे मे जानना चाटे है तो Subdomain Kya hai इस आर्टिकल मे आपको इसके बारे मे जानने को मिलेगा ओर Subdomain के बारे मे तो आपने जोरूर सुना ही होगा केउकी अगर आपका कोई Blog येआ Website है तो आपने अपने ब्लॉग वेबसाईट को बनाने के लिए एक Domain Name जोरूर लिया ही होगा केउकी ब्लॉग वेबसाईट बनाने के लिए एक डोमेन नाम का जोरूरोंट परता है ओर Domain Name एक Address की तारा होता है जिससे आपके ब्लॉग वेबसाईट को इंटरनेट पर कोई भी बोहट आसानी से दुंद सकता है ओर डोमेन के बोहट सारे Extension भी होता है जैसे .Com .In . Net etc होता है ओर डोमेन मे Top Level Domain भी होता है ओर Country Level भी डोमेन होता है जिनमे से लोग अपने हिसाब से डोमेन नाम को खोरीद के अपने Blog Website को बनाते है ओर बनाने के बाद उसमे अपने Content को डालते है जैसे ब्लॉग है तो उसमे अपना आर्टिकल येआ पोस्ट लिखर पब्लिश करते है ओर इसके अलाबा अगर किसी दूसरे केटेगरी का वेबसाईट है तो उसमे उस Category का Content डाला जाता है 

ओर डोमेन नाम को खोरीद ने के लिए एसी बोहट सारे Provider है जिनमे से कोई भी अपने ब्लॉग वेबसाईट के लिए डोमेन नाम Buy कर सकता है तो कोही बार आपके मन मे ये सबाल जोरूर आया होगा की आखिर ये Subdomain होता किया है तो मे आपको बताना चाहुगा की Subdomain Main डोमेन का एक पार्ट होता है तो अगर आपको What is Subdomain in Hindiइसके बारे मे पता नहीं है तो इस आर्टिकल के जोरिए आपको Subdomain Kya Hota hai इसके बारे मे जानने को मिलेगा जैसे Subdomain Kya hai – सब डोमेन क्या है  इसके बारे मे आपको पता चल जायगा ओर इसके साथ आपको इस आर्टिकल से Subdomain Ke Fayde – सब डोमेन के फायदे  इसके बारे मे भी आपको पता चल जायगा तो इस आर्टिकल से आपको इनसोब के बारे मे जानकारी मिल जायगा अगर आप इनसोब के बारे मे जानना चाटे है तो इस आर्टिकल को पूरा पोरिए आपको Subdomain Kya hai इसके बारे मे जानकारी मिल जायगा |

Subdomain Kya hai – सब डोमेन क्या है  

Subdomain Kya hai

Subdomain एक Main Domain का एक पार्ट होता है जैसे किसी Domain Name का एक पार्ट होता है जैसे की आपका जो Domain Name है उसका आप Subdomain बना सकते है ओर Subdomain जैसे Example.thinknath.com उसी तारा से Subdomain होता है ओर WWW भी एक Subdomain होता है जो हर किसी Website के साथ देखने को मिल जाता है ओर WWW एक Common Subdomain है जिसके बोजे से हर किसी ब्लॉग वेबसाईट के साथ ये WWW Subdomain देखने को मिल जाता है ओर हर कोई अपने Main Domain के साथ Subdomain बना सकता है ओर Subdomain इसलिए बनाया जाता है की किसी ब्लॉग वेबसाईट के अलग अलग Category के अलग अलग Content को अलग रखने के लिए जैसे हम अपने वेबसाईट का एक अलग Category बनाना चाटे है ओर उसमे दूसरे Category का Content रखना चाटे है तो इसके लिए हम एक Subdomain ले सकते है ओर लेने के बाद उस Category का Subdomain अलग रोहेगा जैसे Example.thinknath.com उसी तारा से रोहेगा इसके बाद जब भी कोई उस Category पर जाना चाहेगा तब बो Direct उस Subdomain को Enter करके उस Category पर आसानी से पोंछ सकता है ओर Subdomain Free मे भी बना सकते है 

अगर आपका पहले से ही कोई Domain Name है तो उसका आप Free मे Subdomain बना सकते है जैसे Blogger पर जब आप किसी Blog को बनाते है तब उसमे आप Blogger के Subdomain के साथ अपना Free ब्लॉग बनाते है जैसे thinknath.Blogspot.com उसी तारा से होता है ओर ये एक Subdomain होता है ओर बैसे तो Subdomain आपके Main डोमेन का एक पार्ट होता है फिरभी आपको Subdomain लेने के बाद उसमे अपने ब्लॉग वेबसाईट को Customize करके उसे पूरी तारा से Setup करना परता है जैसे Blogger पर Subdomain के साथ ब्लॉग बनाने के बाद उसको Setup करते है ठीक उसी तारा से ही अपने Main डोमेन का Subdomain लेने के बाद उसको Setup करना परता है ओर करने के बाद जिस Category का Subdomain है उस Category का Content डाल ना परता है तो Subdomain कोई भी अपने वेबसाईट के Category के हिसाब से अलग अलग बना सकता है |

Subdomain Ke Fayde – सब डोमेन के फायदे

Subdomain के बोहट सारे फायदे होता है तो उनमे से आपको ईहा पर कुछ एसी फायदे के बारे मे जानने को मिलेगा जैसे |

. Subdomain के सबसे भरा फायदा ये होता है की उसको आप Free मे भी बना सकते है अपने Main Domain का Subdomain बना सकते है |

. Subdomain आप अलग अलग Category का बना सकते है जैसे News, Gadgets, Blog, etc Category का बना सकते है |

. Subdomain आपके Main Domain का एक पार्ट होता है जिसके बोजे से जब आप किसी Category का Subdomain बनाएगे तब लोगों को आसानी से पेचान हो जायगा की ये उस डोमेन का Subdomain है जिससे लोगों का Trust भर जायगा उस Subdomain के ऊपर ओर बो उस Subdomain पर विज़िट कर सकते है |

. अगर आप किसी दूसरे Category येआ Niche पर ब्लॉग बनाने के बारे मे सोच रोहे है तो इसके लिए आपको दूसरे Domain Name लेने के भी जोरूरोंट नहीं परेगा आप अपने Main डोमेन का एक Subdomain लेकर दूसरे Category पर ब्लॉग Website बना सकते है |

. Subdomain लेने के बाद आपके Main डोमेन का Brand Value भी भरने लगेगा केउकी Subdomain आपके Main डोमेन का एक पार्ट होता है ओर Subdomain के साथ आपका Main Domain भी जुरा रोहोता है |

Articles

Domain Name Kya hai 

SEO Kya hai 

Blogging Kya hai 

Google Adsense Kya hai 

Web Hosting Kya hai

Conclusion

Subdomain एक एसी डोमेन होता है जो किसी ब्लॉग वेबसाईट का एक पार्ट होता है जिसको किसी वेबसाईट के अलग अलग Category के लिए बनाया जाता है तो इस आर्टिकल से आपको Subdomain Kya hai इसके बारे मे जानने को मिल गया होगा जैसे Subdomain Kya hai – सब डोमेन क्या है  इसके बारे मे आपको पता चल गया होगा ओर इसके साथ आपको इस आर्टिकल से Subdomain Ke Fayde – सब डोमेन के फायदे इसके बारे मे भी पता चल गया होगा तो इस आर्टिकल से आपको इनसोब के बारे मे जानकारी मिल गया होगा तो आपको ये आर्टिकल कैसा लगा मुजे Comment करके बताइये ओर आपका कोई Question है तो आप मुजे Comment करके पूछ सकते है |  

Guest Post Kaise Kare SEO Friendly Blog Post Kaise Likhe Google Analytics Ke Fayde Blog Promotion Kaise Kare Blog Ki Traffic Kaise Badhaye