Internal Linking Kya hai? इंटरनल लिंकिंग कैसे करे – What is Internal Linking in Hindi

Internal Linking के बारे मे जानना चाटे है तो Internal Linking Kya hai इस आर्टिकल मे आपको इसके बारे मे जानने को मिलेगा ओर Internal लिंकिंग के बारे मे आपने कोबी ना कोबी जोरूर सुना ही होगा अगर आप Blogging करते है तो आपने Internal Linking के बारे मे जोरूर सुना ही होगा ओर अगर आपका कोई Blog Website है ओर आप ब्लॉगिंग करते है तो आपको Blogging से जूरी सभी जानकारी जोरूर होना चाहिए केउकी ब्लॉगिंग मे Success पाने के लिए ओर अपने Blog को Grow करने के लिए आपको ब्लॉगिंग फील्ड से जूरी सभी जानकारी होना चाहिए तभी आप अपने ब्लॉग को Grow कर सकते है ओर ब्लॉगिंग मे Success हासिल कर सकते है तो ब्लॉगिंग से जूरी जानकारी मे से Internal Linking भी एक है जिसके बारे मे आपको जोरूर जानना चाहिए केउकी ये बोहट ही Important होता है ओर अपने ब्लॉग पर Internal Linking भी करना बोहट ही जोरूरी होता है केउकी इसके बोहट सारे फायदे होता है केउकी कोई यूजर आपके एक पोस्ट से आपके दूसरे पेज पर भी जा सकता है Internal Linking के जोरिए ओर On Page SEO के लिए भी Internal Linking करना जोरूरी होता है ओर इसके अलाबा भी ओर भी बोहट सारे फायदे होता है 

Internal Linking करने के तो अगर आपको What is Internal Linking in Hindi इसके बारे मे जादा जानकारी नहीं है तो इस आर्टिकल के जोरिए आपको Internal Link Kya hai इसके बारे मे जानने को मिल जायगा जैसे Internal Linking Kya haiइंटरनल लिंकिंग क्या है इसके बारे मे आपको पता चल जायगा ओर इसके साथ आपको इस आर्टिकल से इससे जूरी ओर भी कोई सारे जानकारी भी मिल जायगा जैसे Internal Linking Kaise Kareइंटरनल लिंकिंग कैसे करे इसके बारे मे भी आपको पता चल जायगा ओर इसके अलाबा आपको इस आर्टिकल से Internal Linking Ke Faydeइंटरनल लिंकिंग के फायदे के बारे मे भी आपको पता चल जायगा तो इस आर्टिकल से आपको इनसोब के बारे मे जानकारी मिल जायगा अगर आप इनसोब के बारे मे जानना चाटे है तो इस आर्टिकल को पूरा पोरिए आपको Internal Linking Kya hai इसके बारे मे जानकारी मिल जायगा |

Internal Linking Kya haiइंटरनल लिंकिंग क्या है

Internal Linking Kya hai

Internal Linking एक तरीका होता है जिसके जोरिए आप अपने Blog की एक Post से दूसरे Post पर यूजर को भेज सकते है जैसे की आपने अपने Blog पर कोई Post येआ Article लिखा है ओर उस पोस्ट पर आप अपने ब्लॉग के किसी दूसरे पोस्ट का Link Add करते है तो उसको Internal Linking बला जाता है ओर Internal Linking आप अपने हिसाब से कर सकते है मगर जादा Internal Linking आप अपने किसी पोस्ट पर ना करे Minimum आप 4 येआ 5 Internal Linking कर सकते है ओर जब आप अपने किसी पोस्ट पर Internal Linking करते है तो उसमे आपको उस Post से जूरी किसी Post का Internal Linking करना चाहिए केउकी इससे यूजर की Interest के हिसाब से दूसरे पोस्ट का Internal Link मिलेगा तो बो उस Linkपर Click करके आपके दूसरे पोस्ट पर जा सकता है ओर उसको Read कर सकता है 

जैसे की आपने अपने Blog पर Blogging के बारे मे कोई आर्टिकल येआ पोस्ट लिखा है ओर उसमे आप Internal Linking करना चाटे है तो अगर Blogging से जूरी आपने पहले ही अपने Blog पर कोई Post Publish किया है तो आप उस Post की Link को Copy करके आप अपने इस Post पर उस Link को Paste करके Internal Linking कर सकते है तो इससे जब भी कोई आपके इस पोस्ट को रीड करने आएगा तब उसको आपके दूसरे पोस्ट का Link देखाई देगा ओर बो उस Link पर Click करके आपके दूसरे Post पर जा सकता है ओर उसको रीड कर सकता है ओर Internal Linking करने से Bounce Rate भी कम होता है ओर SEO के लिए भी अछा होता है ओर Link Juice भी पास होता है |

Internal Linking Kaise Kareइंटरनल लिंकिंग कैसे करे

अगर आप Internal Linking करना चाटे है तो आप बोहट आसानी से Internal Linking कर सकते है तो ईहा पर आपको Blogger Post मे Internal Linking करने के बारे मे जानने को मिलेगा मगर इसके लिए आपको कुछ Steps को भी फॉलो करना परेगा इसके बाद आप इन Steps के जोरिए बोहट आसानी से Blogger मे Internal Linking कर सकते है तो Internal Linking करने के लिए कुछ Steps को Follow करे |

. सबसे पहले आपको अपने Blog Post के उस Post का Link येआ URL Copy करना परेगा जिसको आप अपने किसी दूसरे Post पर Internal Linking करना चाटे है तो आप उस Post का Link Copy कोरिए |

. ओर आब आपको Blogger की Dashboard पर जाना परेगा ओर जाने के बाद आपको उस Post पर Click करना परेगा जिस Post पर आप Internal Linking करना चाटे है तो जिस Post पर Internal Linking करना चाटे है उस Post पर Click करना है |

Internal Linking Kaise Kare

 

. Post पर क्लिक करने के बाद आपको अपने Post के जिस जगा पर आप Internal Linking करना चाटे है उस जगा पर आपको Click करना है ओर करने के बाद ऊपर के Right Site पर आपको 3 Doth देखाई देगा आप उस 3 Doth पर Click कोरिए |

Internal Linking Kaise Kare

 

. ओर आब आपको कुछ Icons देखने को मिलेगा ओर उनसोब के साथ आपको Link का भी एक Icon मिलेगा तो आपको उस Link के Icon पर Click करना है |

Internal Linking Kaise Kare

 

. Link के आइकान पर क्लिक करने के बाद आपको Text to Display के वाले Lain पर आपको उस Postका Text Title को Enter करना परेगा जिस पोस्ट को आप Internal Link करना चाटे है तो जिस Post का Internal Link करना चाटे है उसके लिए आपको Text to Display के वाले Lain पर Click करके आपको उस Post का Title Text Enter करना है ओर करने के बाद आपको नीचे के Paste or Search For a Link के वाले Lain पर Click करके आपको उस Post का Link Paste करना है जिसको आपने Copy किया था तो आप उस Link को Paste करे ओर करने के बाद आपको Open This Link in a New Window Option पर Click करके उसको Tick करना है ओर करने के बाद Apply Option पर Click कोरिए | ओर जैसे ही आप Apply पर Click कोरेनगे तब उस Post पर Internal Linking हो जायगा | तो इसी तारा से आप बोहट आसानी से Internal Linking कर सकते है |

Internal Linking Kaise Kare

 

Internal Linking Ke Faydeइंटरनल लिंकिंग के फायदे

Internal Linking के बोहट सारे फायदे होता है तो ईहा पर आपको उनमे से कुछ एसी फायदे के बारे मे जानने को मिलेगा जैसे |

. Internal Linking करने से जब भी कोई यूजर आपके एक Post को रीड करने आएगा तब उसको आपके दूसरे Post का Link देखने को मिलेगा इससे बो आपके दूसरे Post को भी Read कर सकता है |

. Internal Linking करने से आपके Blog का Bounce Rate भी कम हो सकता है |

. Internal Linking से आपके ब्लॉग का ट्राफिक भी भर सकता है जैसे की अगर आपका कोई पोस्ट अछा Rank कर रोहा है ओर उस पोस्ट पर आपने Internal Linking करके रखा है तो कोई आपके उस पोस्ट से दूसरे पोस्ट पर जा सकता है ओर इससे आपके दूसरे पोस्ट का भी ट्राफिक बरने लगेगा |

. Internal Linking करने से Link Juice भी पास होता है तो इससे आपके ब्लॉग वेबसाईट का रैंकिंग भी Improve हो सकता है |

. Internal Linking करने से Crawling & Indexing भी Improve करा सकते है |

Articles

Blog Me Organic Traffic Kaise Badhaye 

Https Kya hai 

Micro Niche Blog Kya hai

Guest Post Kya hai 

Blog Banane Ke Baad Kya Kare

Conclusion

Internal Linking एक एसी तरीका होता है जिसके जोरिए आपके Blog Post पर आए यूजर को दूसरे Post पर भेज सकते है तो इस आर्टिकल से आपको Internal Linking Kya hai इसके बारे मे आपको जानने को मिल गया होगा जैसे Internal Linking Kya haiइंटरनल लिंकिंग क्या है इसके बारे मे आपको पता चल गया होगा ओर इसके साथ आपको इस आर्टिकल से इससे जूरी ओर भी कोई सारे जानकारी भी मिल गया होगा जैसे Internal Linking Kaise Kareइंटरनल लिंकिंग कैसे करे इसके बारे मे भी आपको पता चल गया होगा ओर इसके अलाबा आपको इस आर्टिकल से Internal Linking Ke Faydeइंटरनल लिंकिंग के फायदे के बारे मे भी आपको पता चल गया होगा तो इस आर्टिकल से आपको इनसोब के बारे मे जानकारी मिल गया होगा तो आपको ये आर्टिकल कैसा लगा मुजे Comment करके बताइये ओर आपका कोई Question है तो आप मुजे Comment करके पूछ सकते है |

Guest Post Kaise Kare SEO Friendly Blog Post Kaise Likhe Google Analytics Ke Fayde Blog Promotion Kaise Kare Blog Ki Traffic Kaise Badhaye